10 Lines Short Stories With Moral In Hindi

कक्षा 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10 के लिए हिंदी में नैतिकता के साथ 10 पंक्तियों की लघु कथाएँ 10 lines short stories with moral in hindi देखें। कहानी पढ़ना बहुत महत्वपूर्ण होता है। यह हमारी सोच और विचारों को विस्तार देता है और हमें अनुभवों की एक नई दुनिया में ले जाता है। 

कहानियों में संज्ञानात्मक अर्थ होता है, जो हमें जीवन के नियमों और अच्छी आदतों के बारे में सिखाते हैं। इसके अलावा, कहानियों से हम नयी जगहों के बारे में भी सीख सकते हैं और अपनी संज्ञानशीलता को विकसित कर सकते हैं। 

यह हमारे भावनाओं को भी विकसित करता है और हमारी सोच को दृढ़ता देता है। संक्षिप्त रूप से कहें तो, कहानी पढ़ना हमारी शिक्षा और विकास के लिए बहुत महत्वपूर्ण होता है। हम 10 lines short stories with moral in hindi पर चर्चा करेंगे। आइए उन्हें एक-एक करके जांचें।

Also Read: 10 Lines Short Stories With Moral In English

10 Lines Short Stories With Moral In Hindi: Overview

10-lines-short-stories-with-moral-in-hindi
  1. चतुर खरगोश और सियार
  2. अहंकारी भेड़िया
  3. सच्चे मित्र
  4. समझदार बछड़ा
  5. धोखेबाज चोर
  6. सही निर्णय
  7. वफादारी की मिसाल
  8. शिकारी का शिकार
  9. पढ़ाई का महत्व
  10. योग्यता का महत्व
Also Read: Paragraph On New Year And 10 Lines On New Year In English

10 Lines Short Stories With Moral In Hindi

चतुर खरगोश और सियार

एक शेर जंगल में घूम रहा था। उसे अपनी शक्ति पर बहुत गर्व था। एक दिन, उसने एक चींटी को पीछे करते हुए देखा। शेर ने सोचा कि चींटी से क्या फर्क पड़ता है। पर चींटी ने शेर को उसकी शक्ति का परीक्षण करने के लिए चुनौती दी। चींटी की छोटी सी शक्ति ने शेर की बड़ी से बड़ी शक्ति को भी परास्त कर दिया। 

मोरल: न चोटी चार, न बड़ी बात, न खुद को सबसे महान समझना।

अहंकारी भेड़िया

एक बुढ़िया रसोई में खाना बना रही थी। उसने एक बर्तन में थोड़ा सा तेल डाला, लेकिन उसे अधिक लगा। वह तेल निकालने के लिए एक और बर्तन में डाल दिया। इस प्रकार, वह नीचे के बर्तन में तेल निकालती रही और ऊपर के बर्तन में तेल डालती रही। समय बीत गया और उसे यह मालूम नहीं हुआ कि उसने बहुत सारा तेल खराब कर दिया। 

मोरल: जितना ज़रूरी हो, उतना ही करना चाहिए।

सच्चे मित्र

एक दिन, एक आदमी रास्ते में खड़ा था। उसने एक गिलास पानी के लिए भीख मांगी और एक घर में पहुंचा। घर के मालिक ने उसे गिलास पानी दिया, लेकिन उसने एक और चीज़ मांगी। वह चीज़ भी दी गई, फिर भी वह संतुष्ट नहीं हुआ। इसी तरह, उसने धीरे-धीरे घर के सभी सामानों के लिए मांग कर लोगों को परेशान करना शुरू कर दिया। 

मोरल: संतुष्टि से बढ़कर कुछ नहीं होता है।

समझदार बछड़ा

एक लोमड़ी जंगल में घूम रही थी। उसे एक आलसी कुत्ते ने देख लिया। आलसी कुत्ता उसे पकड़ने की कोशिश करने लगा, लेकिन लोमड़ी बहुत तेज थी और उससे बच निकली। आलसी कुत्ता नाक में दम कर गया और लोमड़ी की तारीफ करने लगा। उसने कहा, “तुम बहुत तेज़ हो, मैं तुमसे नहीं जीत सकता।” इससे लोमड़ी को बड़ा अभिमान हुआ। उसने सोचा कि वह जंगल की सबसे तेज़ जानवर है। इससे उसे अपनी अहमियत का अंदाज़ा नहीं था। 

मोरल: अपनी ताकत का दिमाग बदल देने की कोशिश ना करें।

धोखेबाज चोर

एक बच्चा अपने पिता से पूछता है, “पिता, क्या जीवन में गलतियां करना ज़रूरी है?” पिता ने उससे पूछा, “क्यों बेटा?” बच्चा ने उत्तर दिया, “मैंने एक गलती की थी जिससे मुझे बहुत खेद हो रहा है।” पिता ने उसे समझाया, “बेटा, गलतियां करना हमारी ज़िन्दगी का हिस्सा है। हम सभी गलतियां करते हैं, लेकिन सबसे बड़ी गलती होती है जब हम अपनी गलतियों से सीखने की कोशिश नहीं करते।” 

मोरल: गलतियों से सीखना ज़रूरी है।

सही निर्णय

एक बुजुर्ग आदमी एक स्थान से दूसरे स्थान तक जा रहा था। उसे दो लोगों ने देख लिया और उससे उसकी वृद्ध आयु के लिए मज़ाक उड़ाया। बुजुर्ग ने खुशी से उत्तर दिया, “हाँ बच्चों, मैं बहुत बुढ़ा हो गया हूँ लेकिन अभी भी मैं आसमान तक ऊँचा हूँ क्योंकि मैंने कभी अपने सपनों से हाथ नहीं धोया।” 

मोरल: सपनों को नहीं छोड़ना चाहिए।

वफादारी की मिसाल

एक गांव में रहने वाला एक कुत्ता अपने मालिक से बेहद वफादार था। उसका मालिक जब भी कहता था तो वह किसी भी काम के लिए तुरंत तैयार हो जाता था। एक दिन मालिक ने अपने दोस्तों के साथ शिकार करने का फैसला किया। उसने कुत्ते से कहा कि वह उसे अपने साथ ले जाए। लेकिन कुत्ता नहीं गया और उसके मालिक ने दूसरे कुत्ते को शिकार करने के लिए साथ ले गए। शिकारी एक तोता पकड़ने के बाद, वह खुश था कि उसने बहुत सी शिकार की है। लेकिन तब वह जाना कि कुत्ता अपने मालिक के साथ नहीं गया था। शिकारी कुत्ते की वफादारी को देखकर सोचने लगा कि यह कुत्ता उससे ज्यादा वफादार है। उसने अपना अहंकार छोड़ दिया और इसकी वजह से उसे अपनी गलती समझ में आ गई।

मोरल: वफादारी हमेशा सफलता की गारंटी नहीं होती है, लेकिन वह एक सच्ची मिसाल होती है जो हमें सफलता की तरफ ले जाती है।

शिकारी का शिकार

एक बिल्ली एक चूहे को पकड़कर खाने के लिए भागती थी। चूहा ने उससे कहा, “बिल्ली जी, क्या आप मुझे नहीं खा सकती हो जब तक मैं आपके लिए कुछ ना कर दूँ?” बिल्ली ने चूहे के सवाल पर गौर किया और उसे जाने दिया। अगले दिन, चूहा ने एक चीज़ बिल्ली के लिए ले कर आया और बिल्ली से कहा, “बिल्ली जी, यह आपके लिए खाने के लिए है।” बिल्ली ने अपनी आँखें खोलते हुए कहा, “अच्छा किया, तुम बहुत अच्छे हो।” इससे चूहे ने सीखा कि दूसरों की मदद करने से अच्छा कर्म होता है। 

मोरल: दूसरों की मदद करना अच्छा होता है।

पढ़ाई का महत्व

एक बच्चे को स्कूल जाना था, लेकिन उसे नींद नहीं आ रही थी। उसने अपनी माँ से कहा, “माँ, मुझे स्कूल नहीं जाना है।” माँ ने उससे पूछा, “क्यों बेटा?” बच्चा ने उत्तर दिया, “क्योंकि मुझे पढ़ाई नहीं करनी है।” माँ ने उसे बताया, “बेटा, जीवन में पढ़ाई करना बहुत महत्वपूर्ण है। तुम स्कूल जाओगे तो तुम्हारा भविष्य बहुत उज्ज्वल होगा।” बच्चा समझ गया कि पढ़ाई करना उसके लिए बहुत जरूरी है। वह स्कूल गया और अब वह एक सफल व्यक्ति है। 

मोरल: पढ़ाई करना जरूरी है।

योग्यता का महत्व

एक कूटर ने अपनी भूख मिटाने के लिए चूहे को पकड़ लिया। चूहे ने कूटर से कहा, “भाई साहब, मुझे खाने से पहले आप मुझे यह बता दीजिए कि आप इतने बड़े कैसे हो गए?” कूटर ने चूहे को अपनी योग्यता बताई और उसे खाने के लिए छोड़ दिया। थोड़ी देर बाद, चूहे ने एक बिल्ली को खाने से पहले यह सवाल पूछा, “भाई साहब, आप इतने बड़े कैसे हो गए?” बिल्ली ने उत्तर दिया, “मैंने अपनी योग्यता से बड़े बड़े पद हासिल किए हैं।” चूहे ने जाना कि योग्यता अति महत्वपूर्ण है। 

मोरल: योग्यता हमें उच्च स्थान पर ले जाती है।

आशा है कि आपने हिंदी में मोर पर 10 पंक्तियाँ सीख ली होंगी। Hope you learned about 10 lines short stories with moral in hindi.

Leave a Comment